नोट बंदी के फायदे शुरू: लोन की EMI होगी कम

जैसी की उम्मीद की जा रही थी, ठीक वैसा ही हुआ। नोट बंदी के बाद बैंको में आए बेशुमार जमा राशी के चलते आर्थिक विशेषज्ञ यह उम्मीद कर रहे थे कि बैंक लोन सस्ते होंगे। 31 दिसंबर की शाम PM नरेन्द्र मोदी के देश के नाम संबोधन के बाद बैंको पर दबाव था कि वे जल्द से जल्द अपने लोन सस्ते करें। इसी कड़ी में वर्ष 2017 के पहले ही हफ्ते में स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया, और पंजाब नेशनल बैंक ने ग्राहकों के लिए लोन पर ब्याज दरो में कटौती की शुरुआत की है। बिजनेस पत्रकार रजनीश कान्त के मुताबिक इसका सबसे ज्यादा फायदा होम लोन के नए ग्राहकों को होगा। 20-25 साल की अवधि के लिए लिए गए 20 लाख रुपए के होम लोन के मासिक इन्स्टालमेन्ट(EMI) परSBI के ब्याज दर के अनुसार लगभग 1200 रुपए मासिक तक की बचत हो सकती है। SBI ने बेंचमार्क लैंडिंग रेट 0.90 प्रतिशत, PNB ने एक साल के MCLR में 0.70 प्रतिशत, और UBI ने MCLR में 0.65 फीसदी की कटौती की है। SBI की नई दरे 1 जनवरी 2017 से लगू हो गई हैं। अब उम्मीद की जा रही है कि देश के अन्य सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंक अपने लोन सस्ते कार ग्राहकों को फायदा पहुंचाएंगे। रजनीश कान्त के मुताबिक यह तो अभी शुरुआत है अभी लोन और सस्ते होंगे।

901 thoughts on “नोट बंदी के फायदे शुरू: लोन की EMI होगी कम