‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ पर डीयू के वीसी ने सबको दिया साथ मिलकर चलने का सन्देश

मुनमुन प्रसाद श्रीवास्तव

दिल्ली विश्वविद्यालय के गांधी भवन के खुले प्रांगण में शनिवार को “राष्ट्रीय एकता दिवस” के अवसर पर बोलते हुए डीयू के कार्यकारी कुलपति प्रो.पीसी जोशी ने उम्मीद जताई कि वैश्विक स्तर पर डीयू की रैंकिंग में सुधार दिखेगा। प्रो.जोशी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल के राष्ट्र निर्माण में योगदान को याद करते हुए कहा कि मिलजुल कर जो काम होता है उसके परिणाम बेहतर आते हैं। उन्होंने आह्वान किया कि डीयू के सारे विभाग व् कालेज एक दूसरे से जुडें और शोध प्रक्रिया को आगे बढायें। सरदार पटेल के बचपन की बहादुरी का किस्सा सुनाते हुए उन्होंने कहा कि एकता का अर्थ ही संयम की एकता होती है।

कार्यकारी कुलपति प्रो.पीसी जोशी

कार्यक्रम में गाँधी हिंदुस्तानी साहित्य सभा की कुसुम बहन और राधा बहन ने सर्व धर्म प्रार्थना के माध्यम से राष्ट्रीय एकता का सन्देश दिया। कार्यक्रम में सभी को देश की एकता एवं अखण्डता को कायम रखने की “शपथ” दिलाई गयी। धन्यवाद ज्ञापन गांधी भवन के निदेशक प्रो.रमेश भारद्वाज ने किया। कार्यक्रम में डीयू के रजिस्ट्रार विकास गुप्ता, डीयू के डीन ऑफ़ कॉलेजेज प्रो बलराम पाणी, साउथ कैंपस के निदेशक प्रो.सुमन कुंडू, गांधी भवन के योग शिक्षक इन्द्र नारायण रमण सहित कई कालेजों के प्राचार्य भी उपस्थित थे।