Wednesday, February 21, 2024
bharat247 विज्ञापन
Homeयौन स्वास्थ्यनपुंसकता को आज के जमाने में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते हैं

नपुंसकता को आज के जमाने में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते हैं

- विज्ञापन -

अगर एक शख्स को लगातार सही उत्तेजना न आए या आने के बाद वह उसे मेंटेन न कर सके और सहवास पूरी तरह से करने में असफल रहे तो उसे नपुंसकता कहते हैं। नपुंसकता को आज के जमाने में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते हैं।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) क्या है (What is Erectile Dysfunction – ED In Hindi) ?

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) एक ऐसी स्थिति है जिसमें पुरुष को यौन क्रिया के लिए पर्याप्त रूप से स्तंभन प्राप्त करने या उसे बनाए रखने में कठिनाई होती है। यह एक आम समस्या है, जिससे 40 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 40% पुरुष प्रभावित होते हैं।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लक्षण क्या हैं?

ईडी के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • स्तंभन प्राप्त करने में कठिनाई
  • स्तंभन बनाए रखने में कठिनाई
  • स्तंभन जो पर्याप्त कठोर नहीं है

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण क्या हैं?

ईडी के कई संभावित कारण हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • शारीरिक कारण: हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, धूम्रपान, शराब का सेवन, मोटापा, और कुछ दवाएं
  • भावनात्मक कारण: तनाव, चिंता, अवसाद, और रिश्तों में समस्याएं
  • संवहनी कारण: नसों या धमनियों को नुकसान
  • तंत्रिका संबंधी कारण: तंत्रिका क्षति
  • हार्मोनल कारण: टेस्टोस्टेरोन की कमी

इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज कैसे किया जाता है?

ईडी का इलाज उसके कारण पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में, इलाज के लिए कोई दवा या सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती है। अन्य मामलों में, निम्नलिखित उपचार मददगार हो सकते हैं:

  • दवाएं: PDE5 इनहिबिटर, जैसे कि वियाग्रा, सीएलए लिली, और स्टैक्सिन, स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।
  • सर्जरी: कुछ मामलों में, सर्जरी स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  • जीवनशैली में बदलाव: संतुलित आहार, नियमित व्यायाम, और धूम्रपान और शराब का सेवन कम करना स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए जीवनशैली में बदलाव

ईडी के लिए निम्नलिखित जीवनशैली में बदलाव मददगार हो सकते हैं:

  • संतुलित आहार खाएं: स्वस्थ आहार का सेवन रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जो स्तंभन को प्रभावित कर सकते हैं।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें: नियमित व्यायाम रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है, और यह तनाव को कम करने में भी मदद कर सकता है।
  • धूम्रपान और शराब का सेवन कम करें: धूम्रपान और शराब का सेवन स्तंभन को प्रभावित कर सकता है।
  • पर्याप्त नींद लें: पर्याप्त नींद स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकती है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन पर चर्चा करने में संकोच न करें

यदि आपको ईडी की समस्या है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। ईडी एक आम समस्या है, और इसका इलाज संभव है।

स्तंभन या इरेक्शन पुरुष लिंग की एक स्थिति है

जब यह दृढ़, बड़ा और रक्त से भरा होता है। यह एक सामान्य शारीरिक प्रक्रिया है जो यौन उत्तेजना के जवाब में होती है। जब एक पुरुष यौन रूप से उत्तेजित होता है, तो उसका शरीर कुछ मांसपेशियों को शिथिल करने के लिए उत्तेजित करके प्रतिक्रिया करता है ताकि लिंग के ऊतकों में रक्त का प्रवाह बढ़ जाए। इससे लिंग सख्त और बड़ा हो जाता है।

स्तंभन के लिए निम्नलिखित चरणों की आवश्यकता होती है:

1. नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन: यौन उत्तेजना से, मस्तिष्क लिंग में नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन करने के लिए सिग्नल भेजता है। नाइट्रिक ऑक्साइड एक रसायन है जो लिंग की रक्त वाहिकाओं को फैलाने में मदद करता है। 2. रक्त वाहिकाओं का फैलना: नाइट्रिक ऑक्साइड के कारण, लिंग की रक्त वाहिकाएं फैल जाती हैं। इससे लिंग में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। 3. लिंग का भरना: लिंग में रक्त का प्रवाह बढ़ने से लिंग सख्त और बड़ा हो जाता है।

स्तंभन आमतौर पर यौन उत्तेजना के कुछ मिनटों के भीतर होता है। स्तंभन को बनाए रखने के लिए, लिंग में रक्त का प्रवाह जारी रहना चाहिए। यदि रक्त का प्रवाह कम हो जाता है, तो स्तंभन कमजोर हो जाता है या समाप्त हो जाता है।

स्तंभन की समस्याओं को इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) कहा जाता है। ईडी एक आम समस्या है, जो 40 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 40% पुरुषों को प्रभावित करती है। ईडी के कई संभावित कारण हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • शारीरिक कारण: हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, धूम्रपान, शराब का सेवन, मोटापा, और कुछ दवाएं
  • भावनात्मक कारण: तनाव, चिंता, अवसाद, और रिश्तों में समस्याएं
  • संवहनी कारण: नसों या धमनियों को नुकसान
  • तंत्रिका संबंधी कारण: तंत्रिका क्षति
  • हार्मोनल कारण: टेस्टोस्टेरोन की कमी

ईडी का इलाज उसके कारण पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में, इलाज के लिए कोई दवा या सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती है। अन्य मामलों में, निम्नलिखित उपचार मददगार हो सकते हैं:

  • दवाएं: PDE5 इनहिबिटर, जैसे कि वियाग्रा, सीएलए लिली, और स्टैक्सिन, स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।
  • सर्जरी: कुछ मामलों में, सर्जरी स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  • जीवनशैली में बदलाव: संतुलित आहार, नियमित व्यायाम, और धूम्रपान और शराब का सेवन कम करना स्तंभन को बढ़ाने में मदद कर सकता है।
- विज्ञापन -
Bharat247
Bharat247https://bharat247.com
bharat247 पर ब्रेकिंग न्यूज, जीवन शैली, ज्योतिष, बॉलीवुड, गपशप, राजनीति, आयुर्वेद और धर्म संबंधित लेख पढ़े!
संबंधित लेख
- विज्ञापन -

लोकप्रिय लेख

- विज्ञापन -