मुसलमान भी मनाते आये हैं होली का त्यौहार!

-डा.मोहन चन्द तिवारी गंगा-जमुनी साझा संस्कृति का इतिहास साक्षी है कि हिन्दू ही नहीं मुस्लिम बादशाहों और साहित्यकारों ने भी

Read more

॥ नैन नचाय कही मुसकाय ॥ ॥लला फिर आइयो खेलन होरी॥

–डा.मोहन चन्द तिवारी भारतीय परम्परा में होली श्रृंगारिक हाव भावों के कारण मदनोत्सव का एक पारंपरिक रूप भी है। मनुष्य

Read more

‘होली’ आसुरी वृत्तियों के दहन-विरचेन का पर्व

–डा.मोहन चन्द तिवारी ॥होली का पर्व अपने उद्भवकाल से ही जहां हास-परिहास एवं मनुष्य की आसुरी वृत्तियों के दहन-विरचेन का

Read more