Sunday, April 21, 2024
bharat247 विज्ञापन
Homeबालों की देखभालझड़ते बालों का इलाज (Hair Fall Treatment in Hindi)

झड़ते बालों का इलाज (Hair Fall Treatment in Hindi)

- विज्ञापन -

Hair Fall Treatment in Hindi – हर दूसरा व्यक्ति बालों के झड़ने की समस्या से परेशान है। आज के समय में बाल झड़ने की समस्या बेहद आम है। कुछ मीडिया रिपोर्ट की मानें, तो एक दिन में 50-100 बालों का टूटना सामान्य बात है। पर गिरने वाले बालों की संख्या यदि इससे ज्यादा हो, तो आपको बालों को लेकर थोड़ी चिंता करनी की जरूरत है। वैसे क्या आपने कभी सोचा है कि, आखिर बाल क्यों गिरते हैं? अर्थात बाल झड़ने का मुख्य कारण क्या है?  आइए जानते हैं, बाल झड़ने के कुछ मुख्य कारण एवं उनके निदानों को। जिससे बालों को गिरने से बचाया जा सके।

बाल झड़ने के आम कारण (Common Causes of Hair loss)

वैसे तो व्यक्ति का असंतुलित आहार एवं गलत जीवनशैली ही बाल झड़ने का मुख्य कारण होते हैं। पर कुछ लोगों में आनुवांशिकता (heredity) और दवाओं के दुष्प्रभाव की वजह से भी बाल गिरने या हेयर फॉल की समस्या होने लगती है। इसके अलावा भी बाल गिरने के निम्नलिखित कारण हैं:

रूसी की समस्या (dandruff problem)

ड्राई स्कैल्प, बालों की गंदगी, बदलते मौसम और खराब हेयर केयर रूटीन के कारण अक्सर लोगों को रूसी की दिक्कत होने लगती है। जिसे इंग्लिश में डैंड्रफ कहते है। यही डैंड्रफ कुछ समय बाद बालों के गिरन का कारण बन जाता है। 

स्कैल्प इंफेक्शन (Scalp infections)

स्कैल्प इंफेक्शन वो स्थिति है, जब स्कैल्प में बैक्टीरियल या फंगल इंफेक्शन हो जाता है। जो रोम या क्षतिग्रस्त त्वचा के माध्यम से स्कैल्प (खोपड़ी) में चले जाते हैं और खोपड़ी को संक्रमित कर देते हैं। इसके कारण तेजी से बाल झड़ने लगते हैं।

स्कैल्प एक्जिमा (Scalp Eczema Hair Loss)

स्कैल्प एक्जिमा के समय खोपड़ी की त्वचा शुष्क हो जाती है। जो आगे चलकर स्कैल्प पर खुजली और सूजन का कारण बनती है। और एक समय बाद बालों के टूटने की मुख्य वजह बन जाती है।

एलोपेसिया एरीटा (Alopecia Areata)

एलोपेसिया एरीटा की समस्या महिला और पुरुषों दोनों को हो सकती है। यह समस्या जेनेटिक रूप में नाजुक और कमजोर बालों के रोम (hair follicles) में टेस्टोस्टेरोन मेटाबोलाइट्स (testosterone metabolites) के परिणाम के कारण होती है। इस समस्या के कारण व्यक्ति गंजे तक होने लगते हैं।

एलोपेसिया यूनिवर्सालिस (Alopecia Universalis)

इसमें व्यक्ति के सर के बालों के साथ-साथ बॉडी के बाल भी टूटकर गिरने लगते हैं। वे लोग, जिनकी बॉडी के सारे बाल गिर जाते हैं, वे लोग एलोपेसिया टोटलिस से पीड़ित होते हैं। वहीं, जिन लोगों के बॉडी के बाल धीरे-धीरे गिरते हैं, वे लोग एलोपेसिया यूनिवर्सलिस की समस्या से ग्रस्त होते हैं। इस समस्या का निदान करने के लिए डॉक्टर के ट्रीटमेंट की जरूरत पड़ती है। 

टेलोजन इफ्लूवियम (telogen effluvium)

इस समस्या की वजह से भी लोगों के बाल झड़ने लगते हैं। यह दिक्कत उस समय होती है जब व्यक्ति का शरीर किसी भारी सदमें, तनाव, आघात या कुछ बीमारी से गुजर रहा होता है। इसके अलावा सर्जरी, बच्चे के जन्म के दौरान, कुछ मेडिसिन के उपयोग, क्रैश डायटिंग (crash dieting), थायराइड जैसे कारणों से भी बाल पतले होकर गिरने लगते हैं। इस समस्या के समय भीचिकित्सीय उपचार की आवश्यकता पड़ सकती है।

बाल गिरने के कुछ अन्य कारण:

  • 1. हार्मोन असंतुलन 
  • 2. अपर्याप्त पोषण
  • 3. बॉडी में विटामिन और पोषक पदार्थो की कमी 
  • 4. कुछ दवाओं के साइड-इफेक्ट
  • 5. बालों के प्रति लापरवाही बरतना 
  • 6. गलत प्रकार के शैम्पू का प्रयोग 
  •  

इस समस्याओं के चलते पुरुषों और महिलाओं में बाल झड़ना बेहद आम बात है। पर अब बात आती है कि बालों के झड़ने से निपटने के लिए क्या सुझाव हैं? या बालों को गिरने से कैसे रोका जाए? अर्थात बालों को झड़ने से कैसे बचाया जाए (hair fall control)? तो आइए अब जानते हैं, बालों को गिरने से कैसे बचाएं?

बालों को टूटने से बचाने के उपाय 

बाल टूटने की समस्या को कम करने या इससे बचने के लिए अच्छे खान-पान के अलावा बेहतर जीवन-शैली की भी जरूरत होती है। वहीं, कुछ प्राकृतिक तरीकों से बालों को झड़ने से रोका जा सकता है। आइए जानें, बालों का झड़ना या हेयर फॉल (hair fall) रोकने के घरेलू उपाय।

आंवला: 

आंवला का उपयोग बालों के लिए अच्छा माना जाता है। सूखे आंवले के पाउडर को नारियल तेल में पकाकर, उसे ठंडा करके बालों में लगाने से बालों की जड़ें (roots) मजबूत होती हैं। ऐसा करने से बालों का टूटना कम होने लगता है।

कोकोनट मिल्क: 

कोकनट मिल्क में कुछ पौष्टिक टिश्यू गुण पाए जाते हैं। जो बालों को टूटने से बचाने और उन्हें पुन: उगाने में मदद करते हैं। इसलिए कोकोनट मिल्क से बालों की हल्की मालिश के बाद, उन्हें धोने से बालों की सेहत अच्छी बनती है।

दही और निम्बू का मिश्रण:

बालों की रूसी (dandruff) कम करने के लिए निम्बू और दही दोनों बालों के प्राकृतिक कंडीशनर (natural conditioner for hair) के रूप में कार्य करते हैं। इसलिए निंबू और दही का पेस्ट बनाकर बालों में लगाएं और करीब 30 मिनट बाद बालों को शैम्पू करें। ऐसा करने से बालों की रूसी कम होती है। परिणामस्वरूप बाल मजबूत बनते हैं।

मेहंदी के साथ सरसों का तेल:

ज्यादातर लोग बालों को कलर करने और उनकी चमक बढ़ाने के लिए सर पर मेंहदी लगाते हैं। पर मेंहदी के बारे में यह बात बहुत ही कम लोग जानते हैं कि, मेंहदी से गिरते बालों को भी रोका जा सकता है। इसके लिए सरसो के तेल में कुछ मेंहदी के पत्तों को उबालकर ठंड़ा कर लें। बाद में उस तेल से सिर की अच्छे से मसाज या मालिश करें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में 2 से 3 बार दोहराएं। ऐसा करने से बालों का गिरना कम होता है।

नीम की पत्तियां: 

नीम में मौजूद गुणों को बालों के लिए लाभप्रद माना जाता है। इसलिए नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाकर, धूले हुए बालों में लगाएं। फिर आधे घंटे बाद बालों को अच्छे से शैम्पू करें। ऐसा हफ्ते में कम से कम 2 बार जरूर करें।

अनियन ऑयल: 

अनियन ऑयल में मौजूद सल्फर बालों के रोम छिद्रों (hair follicles) के पुन: निर्माण में सहायता करता है। इससे टूटे हुए बालों की जगह पर नए बाल उगने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए बालों के लिए प्याज का तेल फायदेमंद साबित होता है।

बादाम का तेल: 

बालों की झड़ने की समस्या से निपटने के लिए बादाम का तेल एक औषधि के रूप में कारगर है। दरअसल बादाम में मैग्नीशियम और विटामिन ई पाए जाते हैं। जो बालों को मजबूती प्रदान करते हैं।

रोजवुड ऑयल (शीशम का तेल): 

शीशम के तेल में विटामिन ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है। और बालों के लिए विटामिन ई अच्छा रहता है। इसलिए झड़ते बालों की समस्या से निपटने के लिए शीशम के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।  

लेवेंडर ऑयल: 

लेवेंडर ऑयल में मिलने वाले एंटीसेप्टिक, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी फंगल गुण बालों की रूसी को कम करने का काम करते हैं। इससे बालों की खुजली भी कम होती है और बालों का झड़ना धीरे-धीरे रूक जाता है।

सरसों का तेल: 

सरसों के तेल को ओमेगा 3 फैटी एसिड का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। जोकि स्कैल्प की सूजन (Swelling) को कम करने, रूसी को कम करने और बालों को पर्याप्त मॉइस्चराइजर (moisturizer) देने का काम करता है। परिणामस्वरूप बालों का टूटना कम हो जाता है। इसलिए गिरते बालों को कम करने के लिए सरसो के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए।

अरंडी का तेल: 

अरंडी के तेल में पाए जाने वाला रिसिनोलेइक एसिड स्कैल्प की स्वेलिंग (सूजन) में कमी करके बालों को टूटने से बचाता है। इसलिए झड़ते बालों की दिक्कत को कम करने हेतु अरंडी ऑयल का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

आर्गन का ऑयल: 

आर्गन ऑयल में विटामिन ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा आर्गन में एंटी – ऑक्सीडेंट गुण भी मौजूद होते हैं, जो हल्के और कमजोर बालों के लिए एंटीबायोटिक (antibiotic) के रूप में काम करते हैं। इसलिए बालों की अच्छी सेहत के लिए इस तेल का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

एलोवेरा रस: 

एलोवेरा रस बालों के लिए अच्छा होता है। बालों पर इसके प्रयोग से बाल कोमल और मुलायम बनते हैं और खोपड़ी का रूखापन (dryness of the scalp) भी कम होता है। जिससे खुजली कम होती है। परिणामस्वरूप बालों का टूटना कम होता है।

कीवी का रस: 

कीवी के रस से विटामिन ई की प्राप्ती होती है, जो बालों की इम्युनिटी (hair immunity) बढ़ाने का काम करता है। इससे बाल मजबूत बनते हैं।

खीरे और गाजर का रस:  

खीरे का जूस पीने से खोपड़ी में हीमोग्लबिन की सप्लाई (supply) अच्छी होती है। इससे बालों की ताकत में बढ़ोतरी होती है। वहीं गाजर में मौजूद बीटा-कैरोटीन बालों के रंग और शाइनिंग बढ़ाने में मददगार साबित होता है। इसलिए बालों को लंबे समय तक स्वस्थ रखने के लिए खीरे और गाजर के रस का नियमित सेवन करना करना चाहिए।

पालक: 

पालक में उच्च मात्रा में आयरन मौजूद होता है। जो बालों की अच्छी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसलिए अच्छे बाल प्राप्त करने के लिए पालक का उपयोग किया किया जा सकता है। 

फलों का सेवन:

आड़ू, अमरूद, स्ट्राबेरी, पपीता, अनानास और खट्टे फलों (संतरा, आंवला, नींबू आदि) में सूजनरोधी, एंटी – माइक्रोबियल, एंटी – फंगल, एंटी – ऑक्सीडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई जैसे गुण मौजूद होते हैं। जो बालों को हर तरह का पोषण देने के अलावा फोटोडैमेज और फ्री रेडिकल से बचाने का काम करते हैं। साथ ही  बालों को झड़ने से रोकने में मददगार साबित होते हैं। इसलिए बालों की अच्छी सेहत के लिए इस तरह के फलों का नियमित सेवन अवश्य करना चाहिए।

सब्जियां:

खीरा, गाजर, पालक और वे सभी हरी सब्जियां, जिसमें आयरन, फोलेट, विटामिन ए, बीटा – कैरोटीन आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं। यह तत्व बालों के स्वास्थ को लंबे समय तक अच्छा रखते हैं और उन्हें झड़ने से रोकते हैं।

मेवे: 

ओमेगा ३ फैटी एसिड गुणों के लिए बादाम और अखरोट जैसे मेवों को अच्छा माना जाता हैं, जो बालों की सेहत को पहले से और बेहतर करने में मदद करते हैं।

अंडे और मछली: 

अंडे को प्रोटीन और सेलमॉन जैसी मछलियो ंको ओमेगा ३ फैटी एसिड जैसे तत्वों का अच्छा स्त्रोत माना जाता है, जो बालों की सेहत हेतु बेहद जरूरी तत्वों में से एक हैं। इसलिए बालों की लंबी हेल्थ के लिए अंडा और मछली का सेवन करना चाहिए।

ओट्स और ब्राउन राइस: 

इस प्रकार के खाद्य पदार्थों में बायोटिन और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स मौजूद होता है। जो बालों के सकारात्मक विकास में अहम भूमिका निभाने का काम करते हैं। इसलिए बालों से संबंधित पॉजिटिव रिजल्ट्स (positive hair results) के लिए इन खाद्य पदार्थों का सेवन किया जा सकता है। 

व्यायाम:

पुरुषों और महिलाओं में बाल झड़ना कितना आम है, ये बात आप और हम दोनों भली भांति जानते हैं। लेकिन अगर हम अपनी दैनिक दिनचर्या (daily routine for hair) में कुछ व्यायाम को शामिल कर लें तो टूटते बालों की समस्या को कम किया जा सकता है।

दरअसल व्यायाम करने से व्यक्ति का मानसिक तनाव कम होता है, दिमाग में ऑक्सीजन का संचार बेहतर होता है, स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन (blood circulation) अच्छा रहता है। इससे बालों का स्वास्थ बेहतर बना रहता है। इसलिए अच्छे बालों की प्राप्ति हेतु हमें रोज व्यायाम करना चाहिए।

बालों को गिरने से रोकने के कुछ अन्य उपाय:

पतले बाल अक्सर नाजुक होते हैं। इसलिए वो आसानी से क्षतिग्रस्त (damaged) भी हो जाते हैं। इसलिए इस तरह के बालों को धोते वक्त और उसके बाद निम्न बातों का ध्यान रखें। 

  • 1. बालों को धोने के लिए अच्छे सौम्य शैम्पू का इस्तेमाल करें, जो बालों की नमी को कम न करें।
  • 2. शैंपू करने के बाद मॉइस्चराइजिंग कंडीशनर का उपयोग करें। 
  • 3. बालों को माइक्रोफाइबर टॉवल में लपेटें ताकि बालों का पानी निकल सकें।
  • 4. बालों को नेचुरल तरीके से सुखाने का प्रयास करें।
  • 5. बालों को केमिकल स्ट्रेटनिंग (chemical straightening) और कलर या रंगने से बचें।
  • 6. कभी भी बालों को कसकर न बांधे। इसलिए बालों का हेयरस्टाइल हमेशा ऐसे रखें जिससे बालों पर जोर न पड़े।
  • 7. बालों को अच्छा लुक (Look) देने हेतु हाई-हीट हेयर स्टाइलिंग टूल का प्रयोग करने से बचें।
  •  

अक्सर पूछें जाने वाले सवाल (FAQS)

मैं बालों का झड़ना कैसे रोक सकता हूं और बालों को प्राकृतिक रूप से कैसे बढ़ा सकता हूं?

स्कैल्प और बालों को जरूरी पोषक तत्व देकर, उन्हें कलर करने एवं हाई-हीट टूल के इस्तेमाल को कम करके, एकल और सौम्य शैम्पू का प्रयोग आदि करके बालों को झड़ने से रोका जा सकता है। वहीं, हरी सब्जियों, फल, मेवे, आवंला, दही और निम्बू आदि का उपयोग करके बालों को प्राकृतिक रूप से बढ़ाया भी जा सकता है।

क्या बालों का झड़ना घर पर ठीक किया जा सकता है?

हां। आवंला, कोकोनट मिल्क, दही, नींबू, नीम की पत्ती, प्याज का तेल, बादाम का तेल, एलोवेरा, कीवी, गाजर का रस, खीरा, हरी सब्जी और खट्टे फल आदि प्राकृतिक उत्पादों उपयोग करके झड़ते बालों की समस्या को कुछ हद तक घर पर ठीक किया जा सकता है। पर जिन लोगों के बाल जरूरत से ज्यादा झड़ते हैं, उन्हें केवल प्राकृतिक तत्वों पर ही निर्भर नहीं रहना चाहिए और जरूरत पड़ने पर चिकित्सकीय सलाह जरूर लेनी चाहिए।

झड़ते बालों के लिए कौन सा शैम्पू सबसे अच्छा है?

ग्लैम्यो का हर्बग्रो शैम्पू, झड़ते बालों के लिए सबसे अच्छा शैम्पू है। यह बालों को गिरने से रोकता है। साथ ही डैंड्रफ को कंट्रोल करके, बालों को मुलायम और उनकी चमक बढ़ाने में भी मदद करता है।

कौन से खाद्य पदार्थ बालों को झड़ने से रोकते हैं?

गाजर, सुखा आलूबुखारा, हरी सब्जी, अंडे, पालक, एवोकैडो (Avocado), कीवी, डेयरी उत्पाद, खट्टे फल (संतरा, नींबू, आंवला आदि), आड़ू, अमरूद, स्ट्राबेरी, पपीता और अनानास जैसे खाद्य पदार्थों में उच्च पोषण तत्व पाए जाते हैं। इसलिए इनका सेवन करने से गिरते बालों को रोका जा सकता है।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपाय क्या है?

वैसे तो बालों को झड़ने से रोकने के लिए कई तरह के घरेलू उपचार मौजूद है। लेकिन नारियल तेल और एलोवेरा जेल के प्रयोग से 80 से 90 परसेंट तक बालों को गिरने से रोका जा सकता है। वहीं, इन दोनों के अलावा आवंला को भी बालों के लिए एक उत्तम दर्जे की औषधि माना जाता है।

क्या खोए हुए बाल वापस मिल सकते हैं?

गिरे हुए बाल वापस मिल पाएगें या नहीं, यह बालों के झड़ने के कारकों पर निर्भर करता है। कई बार खोए हुए बालों को प्राकृतिक उत्पादों के इस्तेमाल से वापस किया जा सकता हैं। वहीं, कुछ मामलों में यह विभिन्न प्रकार के तेल और दवाओं की मदद से वापस लाए जा सकते हैं। कुछ केस में यह बाल बिल्कुल भी वापस नहीं आ पाते। इसलिए, क्या गिरने के बाद बाल फिर से उग आएंगे या नहीं? यह बात पूर्ण: बाल झड़ने वाले रीजन्स पर निर्भर करती है।

क्या प्याज के रस से बाल वापस आ सकते हैं?

प्याज बालों के लिए काफी अच्छा होता है। दरअसल प्याज के तेल में मौजूद सल्फर बालों के रोम छिद्रों (hair follicles) के पुन: निर्माण में मदद करता है। इससे टूटे हुए बालों की जगह पर नए बाल उगने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए बालों के लिए प्याज का रस फायदेमंद होता है।

बालों के झड़ने के लिए कौन सा तेल सबसे अच्छा है?

ग्लैम्यो का हर्बग्रो हेयर ऑयल, झड़ते बालों को कम करने के लिए सबसे अच्छा तेल है। यह रूसी को नियंत्रित करके, बालों को घना और मजबूत बनाता है।

किस कमी के कारण बाल झड़ते हैं?

हर व्यक्ति में बाल झड़ने के अलग-अलग कारण होते हैं। किसी के बाल उसके हॉर्मोनल बदलाव के कारण गिरते हैं, तो किसी को गंभीर बीमारी या मेडिकल कंडीशन के कारण उसके बाल झड़ने लगते हैं। कुछ लोगों में अनुवांशिकता तो कुछ लोगों में बढ़ती उम्र के कारण होने वाले शारीरिक बदलावों के कारण भी बाल गिरने लगते हैं। वहीं अगर बात करें, शरीर में किस कमी के कारण बाल गिरते हैं तो बॉडी में विटामिन्स और पोषक पदार्थो की कमी होने पर बाल गिरने लगते हैं।

- विज्ञापन -
Bharat247
Bharat247https://bharat247.com
bharat247 पर ब्रेकिंग न्यूज, जीवन शैली, ज्योतिष, बॉलीवुड, गपशप, राजनीति, आयुर्वेद और धर्म संबंधित लेख पढ़े!
संबंधित लेख
- विज्ञापन -

लोकप्रिय लेख

- विज्ञापन -