केंद्रीय कर्मियों के लिए खुशखबरी! 7वें वेतन आयोग ने केंद्र को सौंपी रिपोर्ट, वेतन में करीब 24% बढ़ोतरी की सिफारिश

सरकारी कर्मचारियों को एक बड़ी सौगात के तहत वेतन आयोग ने उनके वेतन एवं भत्तों में वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार को रिपोर्ट गुरुवार को सौंप दी। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए बड़ा तोहफा पेश करते हुए सातवें वेतन आयोग ने वेतन, भत्ते पेंशन में 23.55 प्रतिशत की वृद्धि और सैनिकों की तर्ज पर असैन्य कर्मचारियों के लिए भीसमान रैंक, समान पेंशनकी व्यवस्था लागू करने कीशुक्रवार को सिफारिश की।



आयोग की सिफारिशें जस की तस लागू करने पर सरकारी खजाने पर 1.02 लाख करोड़ रुपये का सालाना बोझ आएगा, जिसमें 28,450 करोड़ रुपये से अधिक का बोझ रेलवे बजट और बाकी 73,650 करोड़ रुपये आम बजट पर जाएगा। न्यायमूर्ति एके माथुर की अध्यक्षता वाले आयोग की ओर से आज यहां वित्त मंत्री अरुणण्जेटली को सौंपी गई इन सिफारिशों के तहत केन्द्रीय नौकरियों में न्यूनतम मासिक वेतन 18,000 रुपये और अधिकतम 2.5 लाख रुपये प्रतिमाह हो जाएगा। ये सिफारिशें एक जनवरी, 2016 से लागू की जाएंगी और इनसे 47 लाख केन्द्रीय कर्मचारी और 52 लाख पेंशनभोगी लाभान्वित होंगे। इनमें सैन्य बलों के कर्मचारी भी शामिल हैं।

जेटली ने कहा कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों का फायदा स्वायत्तशासी निकायों, विश्वविद्यालयों और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी होगा। सिफारिशों में कहा गया है कि प्रतिशत के रूप में, वेतन, भत्तों एवं पेंशन में कुल मिलाकर सामान्य परिस्थितियों में 23.55 प्रतिशत की वृद्धि होगी। इसमें वेतन में 16 प्रतिशत, भत्तों में 63 प्रतिशत और पेंशन में वृद्धि 24 प्रतिशत होगी। रेलवे कर्मियों सहित केन्द्रीय कर्मचारियों पर सरकार का कुल वेतन पेंशन खर्च 2016-17 में 4.33 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 5.35 लाख करोड़ रुपये पहुंचने का अनुमान है। इन सिफारिशों के लागू होने से वेतन, भत्ते पेंशन पर सरकार का खर्च सकल घरेलू उत्पाद के 0.65 प्रतिशत के बराबर बढ़ेगा, जबकि छठे वेतन आयोग की सिफारिशों में यह वृद्धि जीडीपी के 0.7 से एक प्रतिशत थी।

आयोग नेपे बैंडऔरग्रेड पेकी प्रणाली खत्म करने की सिफारिश की है और वेतन में सालाना 3 प्रतिशत की वृद्धि की व्यवस्था को बरकरार रखा है। साथ ही इसने सभी कर्मचारियों के लिए 2.57 के फिटमेंटफैक्टर लागू करने की सिफारिश की है। आयोग ने अगले साल एक जनवरी से पहले सेवानिवृत्त होने वाले सरकारी सेवाओं के कर्मचारियों के लिएसमान रैंक, समान पेंशनका नाम लिए बगैर इसी तरह का पेंशन का एक संशोधित फार्मूला पेश किया है। आयोग के चेयरमैन और एक अन्य सदस्य डाक्टर रतिन राय ने सभी केन्द्रीय सशस्त्र बलों में सेवानिवृत्ति की उम्र 58 साल से बढ़ाकर 60 साल करने की सिफारिश की है पर एक अन्य सदस्य विवेक रे इससे सहमत नहीं थे। उन्होंने इस संबंध में गृह मंत्रालय के दृष्टिकोण का समर्थन किया है। इस फार्मूले से पहले और वर्तमान में समान रैंक और समान अवधि की सेवा के बाद सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के पेंशन में समानता आएगी।

एक महत्वपूर्ण सिफारिश में आयोग ने ग्रैच्युटी निर्धारण में अधिकतम वेतन की सीमा 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दी है और जब कभी महंगाई भत्ता 50 प्रतिशत तक बढ़ेगा, तो वेतन की अधिकतम सीमा में 25 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी। नए वेतन ढांचे में सातवे वेतन आयोग ने छठे वेतन आयोग द्वारा शुरू की गईपे ग्रेडव्यवस्था खत्म कर इसे वेतन के मैट्रिक्स :ढांचे: में शामिल कर दिया है और कर्मचारी का ओहदा अब ग्रेड पे की जगह नए ढांचे के वेतन से तय होगा। आयोग ने कर्मचारियों पेंशनभोगियों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना की सिफारिश की है। इस बीच, सीजीएचएस का फायदा नहीं पा रहे पेंशनभोगियों के लाभ के लिए सीजीएचएस को उन अस्पतालों को अपने पैनल में शामिल करना चाहिए जो इन पेंशनभोगियों की नकदीरहित चिकित्सा जरूरतें पूरी करने के लिए सीएस एमए ईसीएचएस के तहत पैनल में हैं। आयोग ने सिफारिश की है कि डाक विभाग के सभी पेंशनभोगियों को सीजीएचएस के दायरे में लाया जाए तथा सभी डाक डिस्पेंसरीज को सीजीएचएस में समाहित कर दिया जाए।

केन्द्रीय कर्मियों की सामूहिक बीमा योजना के तहत अंशदान की दर एवं बीमा का कवरेज उपयुक्त तरीके से बढ़ाया गया है। इसके तहत उच्चतम वेतन स्तर पर मासिक कटौती 120 रुपये प्रति माह से बढ़ाकर 5,000 रुपये और बीमा कवरेज 1.2 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की गई है। वेतन ढांचे में सबसे निचले स्तर पर यह कटौती 30 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये और बीमा कवरेज 30,000 रुपये से बढ़ाकर 15 लाख रुपये की गई है।

आयोग की सिफारिशों के अनुसार अब कर्मचारियों को बिना ब्याज वाले अग्रिम की कोई सुविधा नहीं मिलेगी तथा मकान खरीदने के लिए ब्याज वाले अग्रिम की सीमा 7.5 लाख रपये से बढ़ाकर 25 लाख रुपये कर दी गई है। संशोधित सुनिश्चित करियर प्रगति (एमएसीपी) के तहत आयोग ने प्रस्ताव किया है कि जो कर्मचारी एमएसीपी या प्रथम 20 साल की सेवा के बाद नियमित प्रोन्नति के मानकों को पूरा नहीं करेंगे, उन्हें वार्षिक वेतन वृद्धि नहीं मिलेगी। आयोग ने कार्य प्रदर्शन पर आधारित वेतन (पीआरपी) की भी सिफारिश की है जो सभी दर्ज के कर्मचारियों के लिए होगी। इसके लिए, कुछ दिशानिर्देश लागू होंगे। आयोग ने मौजूदा बोनस योजना को पीआरपी में समाहित करने को कहा है।

आयोग ने विभिन्न परिस्थितियों में कर्मचारी की मृत्यु पर परिवार के निकटतम व्यक्ति के लिए एकमुश्त मुआवजा की दरों में भी संशोधन का सुझाव दिया है जो रक्षा बलों के कर्मचारियों और असैन्य कर्मचारियों केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों कर्मचारियों के लिए समान रूप से लागू होगी। नई पेंशन योजना से जुड़ी शिकायतों को देखते हुए आयोग ने योजना की कार्यप्रणाली में सुधार करने और शिकायत निवारण व्यवस्था करने की सिफारिश की है। आयोग ने नियामक निकायों के प्रमुखों सदस्यों के लिए क्रमश: 4.50 लाख रुपये और 4 लाख रुपये का मासिक वेतन पैकेज दिए जाने की सिफारिश की है।

सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों के मामले में आयोग ने कहा कि उनकी पेंशन को, उनके समेकित वेतन से नहीं काटा जाना चाहिए। समेकित वेतन पैकेज 25 प्रतिशत और महंगाई भत्ता 50 प्रतिशत तक बढ़ाया जाना चाहिए। सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें 1 जनवरी, 2016 से लागू होंगी। चेयरमैन के अलावा आयोग के अन्य सदस्यों में 1978 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी विवेक राय, अर्थशास्त्री रथिन राय शामिल हैं। मीना अग्रवाल आयोग की सचिव हैं। केंद्र सरकार प्रत्येक दस साल बाद अपने कर्मचारियों के वेतनमान में संशोधन के लिए वेतन आयोग का गठन करती हैं। आमतौर पर राज्यों द्वारा भी कुछ संशोधनों के साथ इन्हें अपनाया जाता है। छठा वेतन आयोग 1 जनवरी, 2006 से लागू हुआ था।

 

23 thoughts on “केंद्रीय कर्मियों के लिए खुशखबरी! 7वें वेतन आयोग ने केंद्र को सौंपी रिपोर्ट, वेतन में करीब 24% बढ़ोतरी की सिफारिश

  • March 7, 2016 at 8:28 am
    Permalink

    A motivating discussion is unquestionably worth comment.

    I believe that you have to write a little more about this material, it may not be considered a
    taboo subject but generally people do not speak about such topics.

    To the next! Each of the best!!

  • March 9, 2016 at 10:17 pm
    Permalink

    What’s Going down i am a novice to this, I discovered this I have got discovered It positively useful and features aided me out loads.
    I am hoping to contribute & help different users like its aided me.

    Great job.

  • March 11, 2016 at 12:48 am
    Permalink

    What’s up, always i used to check website posts here in the early hours in the break of day, for the reason that i
    like to find out more and more.

  • March 13, 2016 at 8:19 pm
    Permalink

    This web site was… just how do i say it? Relevant!!
    Finally I have found a thing that helped me.
    Kudos!

  • March 22, 2016 at 1:57 am
    Permalink

    What’s Happening i am just new to this, I stumbled upon this I’ve discovered It absolutely useful and
    possesses helped me out loads. I’m hoping to give a contribution & help different users like its
    helped me. Great job.

  • March 24, 2016 at 6:09 pm
    Permalink

    It’s amazing designed for me to have a web site, which is beneficial designed for my know-how.
    thanks admin

  • March 26, 2016 at 5:42 pm
    Permalink

    Hey! This is kind of off topic but I need some help from an established
    blog. Is it very difficult to set up your own blog?

    I’m not very techincal but I can figure things out pretty quick.
    I’m thinking about setting up my own but I’m not sure where
    to begin. Do you have any ideas or suggestions?
    Cheers

  • March 29, 2016 at 6:30 pm
    Permalink

    Hi there friends, pleasant paragraph and pleasant urging commented here, I am truly
    enjoying by these.

  • March 30, 2016 at 7:19 pm
    Permalink

    Oh my goodness! Awesome article dude! Many thanks, However I am experiencing problems with your RSS.

    I don’t understand the reason why I can’t subscribe to it.

    Could there be anybody getting the identical RSS problems? Anybody who knows the solution will you kindly respond?
    Thanks!!

  • April 1, 2016 at 9:04 am
    Permalink

    My developer is intending to persuade me to go to .net from PHP.

    I have got always disliked the theory due to the expenses.
    But he’s tryiong none the less. I’ve been utilizing WordPress on numerous websites for around each year and am nervous about switching to
    another one platform. I have got heard excellent aspects of blogengine.net.
    Is there a way I will transfer my wordpress posts in it?
    Just about any help will be greatly appreciated!

  • April 3, 2016 at 11:12 am
    Permalink

    Hey! Would you mind if I share your blog with my myspace group?
    There’s a lot of people that I think would really appreciate
    your content. Please let me know. Thank you

  • April 4, 2016 at 6:50 pm
    Permalink

    Hello, Neat post. There is a concern together with your internet site
    in web explorer, might check this? IE nonetheless will be
    the market chief and a large aspect of folks will leave out your magnificent writing on account of this concern.

  • April 8, 2016 at 11:39 am
    Permalink

    It’s extremely difficult to get well-informed people in this subject, however you appear to be you know what you’re talking about!
    Thanks

  • April 11, 2016 at 12:18 pm
    Permalink

    Great post. I’m facing many of these issues also..

  • April 14, 2016 at 1:13 am
    Permalink

    Good post however I was wanting to know if you could write a litte more
    on this topic? I’d be very grateful if you could elaborate a little bit further.
    Kudos!

  • April 19, 2016 at 6:08 pm
    Permalink

    It’s really a cool and useful part of info.
    I’m glad that you simply shared this useful info along with us.
    Please stay us up to date similar to this. Thanks a lot for sharing.

  • April 25, 2016 at 11:15 am
    Permalink

    What’s up Dear, are you in fact visiting this site daily, if so after
    that you will without doubt take pleasant experience.

  • April 26, 2016 at 5:16 am
    Permalink

    What a information of un-ambiguity and preserveness of
    precious knowledge about unexpected emotions.

  • Pingback: Google

  • November 15, 2022 at 4:00 pm
    Permalink

    Timely active detection of this pathological condition and providing adequately selected therapy can prevent the progress of the disease and significantly improve the quality of life and sexuality of women lasix prescription

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published.