Tuesday, April 16, 2024
bharat247 विज्ञापन
Homeजिम वर्कआउटट्राइसेप्स (Triceps Workouts) की पूरी जानकारी

ट्राइसेप्स (Triceps Workouts) की पूरी जानकारी

- विज्ञापन -

हाथ का ट्राइसेप्स एक मांसपेशी है जो हाथ के पीछे स्थित होती है। यह तीन सिर वाली मांसपेशी है, जो ऊपरी भुजा के पीछे से हाथ के पीछे तक फैली हुई है। ट्राइसेप्स की तीनों किस्में हैं:

  • लार्ज हेड: 
    यह सबसे बड़ी और सबसे शक्तिशाली सिर है। यह ऊपरी भुजा के पीछे से शुरू होता है और हाथ के पीछे के नीचे तक फैलता है।
  • इंटरमीडिएट हेड: 
    यह बीच का सिर है। यह ऊपरी भुजा के पीछे से शुरू होता है और हाथ के पीछे के बीच तक फैलता है।
  • अलानार हेड: 
    यह सबसे छोटा सिर है। यह ऊपरी भुजा के पीछे से शुरू होता है और हाथ के पीछे के ऊपर तक फैलता है।

ट्राइसेप्स की मांसपेशियां हाथ के पिछले हिस्से को मोड़ने और सीधा करने में मदद करती हैं। वे हाथ को पीछे की ओर धकेलने और हाथ के ऊपर वजन उठाने में भी मदद करते हैं।

ट्राइसेप्स (Triceps Workouts) को मजबूत करने के लिए कई व्यायाम किए जा सकते हैं। इनमें शामिल हैं:

  • बारबेल डेडलिफ्ट: 
    यह व्यायाम ट्राइसेप्स के सभी तीन सिरों को लक्षित करता है।
  • फ्रंच प्रेस: 
    यह व्यायाम ट्राइसेप्स के लार्ज हेड को लक्षित करता है।
  • ओवरहेड त्रिसेप्स एक्सटेंशन: 
    यह व्यायाम ट्राइसेप्स के इंटरमीडिएट हेड और लार्ज हेड को लक्षित करता है।
  • अलानार प्रेस: 
    यह व्यायाम ट्राइसेप्स के अलानार हेड को लक्षित करता है।

ट्राइसेप्स की मांसपेशियों को मजबूत करना हाथ की ताकत और शक्ति में सुधार करने का एक शानदार तरीका है। यह हाथ के पीछे के हिस्से को आकार देने और टोन करने में भी मदद कर सकता है।

हाथ के ट्राइसेप्स (Triceps Exercises) को मजबूत करने के लिए एक प्रभावी वर्कआउट प्लान निम्नलिखित है:

सप्ताह में 2-3 बार वर्कआउट करें। प्रत्येक वर्कआउट में, निम्नलिखित व्यायामों में से प्रत्येक को 3-4 सेट में 8-12 बार करें:

  • बारबेल डेडलिफ्ट: 10-12 बार
  • फ्रेंच प्रेस: 8-10 बार
  • ओवरहेड त्रिसेप्स एक्सटेंशन: 8-10 बार
  • अलानार प्रेस: 8-10 बार

प्रत्येक सेट के बीच 1-2 मिनट का आराम करें।

वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करें।

यहां एक विशिष्ट वर्कआउट प्लान दिया गया है:

वर्कआउट 1

  • बारबेल डेडलिफ्ट: 10-12 बार
  • फ्रेंच प्रेस: 8-10 बार
  • ओवरहेड त्रिसेप्स एक्सटेंशन: 8-10 बार

वर्कआउट 2

  • फ्रेंच प्रेस: 10-12 बार
  • ओवरहेड त्रिसेप्स एक्सटेंशन: 8-10 बार
  • अलानार प्रेस: 8-10 बार

वर्कआउट 3

  • बारबेल डेडलिफ्ट: 10-12 बार
  • अलानार प्रेस: 8-10 बार

आप अपनी फिटनेस स्तर और लक्ष्यों के आधार पर इस प्लान को अनुकूलित कर सकते हैं।

यदि आप शुरुआती हैं, तो आप प्रत्येक सेट में 6-8 बार की शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे-धीरे भार बढ़ा सकते हैं। यदि आप अधिक उन्नत हैं, तो आप प्रत्येक सेट में 12-15 बार की शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे-धीरे भार बढ़ा सकते हैं।

यहां कुछ अतिरिक्त युक्तियां दी गई हैं जो आपको अपने ट्राइसेप्स वर्कआउट से अधिकतम लाभ प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं:

  • सही तकनीक का अभ्यास करें। 
    सही तकनीक का उपयोग करना सुनिश्चित करें ताकि आप चोट से बच सकें और अपने ट्राइसेप्स को पूरी तरह से काम कर सकें।
  • अपने भार को बढ़ाएं। 
    जैसे-जैसे आप मजबूत होते जाते हैं, अपने भार को बढ़ाना जारी रखें। इससे आपकी मांसपेशियों को बढ़ने और मजबूत होने में मदद मिलेगी।
  • अपने वर्कआउट को विविध बनाएं। 
    विभिन्न प्रकार के व्यायामों का उपयोग करना सुनिश्चित करें ताकि आप सभी तीन ट्राइसेप्स सिरों को लक्षित कर सकें।
  • अपने ट्राइसेप्स को आराम दें। 
    अपने ट्राइसेप्स को आराम देने के लिए पर्याप्त समय दें ताकि वे ठीक हो सकें और बढ़ सकें।

ट्राइसेप्स वर्कआउट के साथ नियमित रूप से अभ्यास करने से आपको मजबूत और अधिक परिभाषित ट्राइसेप्स प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

हाथ के ट्राइसेप्स को मजबूत करने के लिए एक स्वस्थ और पौष्टिक आहार महत्वपूर्ण है। ट्राइसेप्स मांसपेशियों के विकास के लिए प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और स्वस्थ वसा की आवश्यकता होती है।

प्रोटीन

प्रोटीन मांसपेशियों के निर्माण और मरम्मत के लिए आवश्यक है। ट्राइसेप्स वर्कआउट के बाद, प्रोटीन का सेवन करने से आपकी मांसपेशियों को ठीक होने और बढ़ने में मदद मिलेगी। प्रोटीन के अच्छे स्रोतों में शामिल हैं:

  • मांस
  • चिकन
  • मछली
  • अंडे
  • दूध और डेयरी उत्पाद
  • फलियां
  • नट्स और बीज

कार्बोहाइड्रेट

कार्बोहाइड्रेट ऊर्जा प्रदान करते हैं, जो ट्राइसेप्स वर्कआउट के लिए आवश्यक है। कार्बोहाइड्रेट के अच्छे स्रोतों में शामिल हैं:

  • फल
  • सब्जियां
  • साबुत अनाज

स्वस्थ वसा

स्वस्थ वसा हृदय स्वास्थ्य और समग्र कल्याण के लिए महत्वपूर्ण हैं। स्वस्थ वसा के अच्छे स्रोतों में शामिल हैं:

  • नट्स और बीज
  • एवोकैडो
  • फिश

ट्राइसेप्स वर्कआउट के लिए एक स्वस्थ आहार के उदाहरण

यहां एक स्वस्थ आहार का उदाहरण दिया गया है जो ट्राइसेप्स वर्कआउट के लिए अच्छा है:

नाश्ता: ओटमील और फल, अंडे और टॉस्ट, या दलिया और नट्स

दोपहर का भोजन: चिकन सैंडविच, टूना सलाद, या चावल और दाल

रात का खाना: ग्रिल्ड चिकन और सब्जियां, मछली और चावल, या टमाटर सूप

स्नैक्स: नट्स, बीज, फल, या साबुत अनाज स्नैक्स

तरल पदार्थ: पानी, हर्बल चाय, या सादा कॉफी

यह आहार प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और स्वस्थ वसा की अच्छी मात्रा प्रदान करता है। यह ट्राइसेप्स वर्कआउट के लिए आवश्यक ऊर्जा और पोषक तत्व प्रदान करने में मदद करेगा।

यहां कुछ अतिरिक्त युक्तियां दी गई हैं जो आपको अपने ट्राइसेप्स वर्कआउट के लिए एक स्वस्थ आहार बनाने में मदद कर सकती हैं:

  • प्रोटीन से भरपूर भोजन का सेवन करें। 
    प्रति दिन अपने वजन के प्रति किलोग्राम 1.2-2.0 ग्राम प्रोटीन का लक्ष्य रखें।
  • पूरे, स्वस्थ खाद्य पदार्थों का चयन करें। 
    प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों से बचें।
  • अपने आहार में पर्याप्त तरल पदार्थ शामिल करें। 
    पानी, हर्बल चाय, या सादा कॉफी पीना सुनिश्चित करें।

नियमित रूप से व्यायाम और स्वस्थ आहार के साथ, आप मजबूत और अधिक परिभाषित ट्राइसेप्स प्राप्त कर सकते हैं।

यहाँ कुछ अतिरिक्त जानकारी दी गई है जो आपके लिए उपयोगी हो सकती है:

  • ट्राइसेप्स को मजबूत करने के लिए, आप अपने वर्कआउट को विविध बनाकर और विभिन्न प्रकार के व्यायामों का उपयोग करके अपने ट्राइसेप्स के सभी तीन सिरों को लक्षित कर सकते हैं।
  • यदि आप शुरुआती हैं, तो आप प्रत्येक सेट में 6-8 बार की शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे-धीरे भार बढ़ा सकते हैं। यदि आप अधिक उन्नत हैं, तो आप प्रत्येक सेट में 12-15 बार की शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे-धीरे भार बढ़ा सकते हैं।
  • सही तकनीक का अभ्यास करना महत्वपूर्ण है ताकि आप चोट से बच सकें और अपने ट्राइसेप्स को पूरी तरह से काम कर सकें।
  • अपने ट्राइसेप्स को आराम देने के लिए पर्याप्त समय दें ताकि वे ठीक हो सकें और बढ़ सकें।

यहाँ कुछ अतिरिक्त युक्तियां दी गई हैं जो आपको अपने ट्राइसेप्स वर्कआउट से अधिकतम लाभ प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं:

  • अपने ट्राइसेप्स को गर्म करने से पहले व्यायाम करना सुनिश्चित करें। 
    इससे चोट लगने का खतरा कम हो जाएगा।
  • अपने वर्कआउट के दौरान पर्याप्त पानी पीना सुनिश्चित करें। 
    इससे आपको हाइड्रेटेड रहने और थकान को दूर करने में मदद मिलेगी।
  • अपने वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करना सुनिश्चित करें। 
    इससे मांसपेशियों में तनाव को कम करने और चोट लगने का खतरा कम करने में मदद मिलेगी।
- विज्ञापन -
Bharat247
Bharat247https://bharat247.com
bharat247 पर ब्रेकिंग न्यूज, जीवन शैली, ज्योतिष, बॉलीवुड, गपशप, राजनीति, आयुर्वेद और धर्म संबंधित लेख पढ़े!
संबंधित लेख
- विज्ञापन -

लोकप्रिय लेख

- विज्ञापन -