Wednesday, July 24, 2024
bharat247 विज्ञापन
Homeफ्लिपकार्टहम हीरो हैं: Flipkart के इस हब में, सपोर्ट का कल्चर विकलांग...

हम हीरो हैं: Flipkart के इस हब में, सपोर्ट का कल्चर विकलांग लोगों को तरक्की करने में सक्षम बनाती है।

- विज्ञापन -

अपनी सप्लाय चेन में 2,100 से अधिक विकलांग लोगों को रोजगार देते हुए, फ्लिपकार्ट अपनी ईडीएबी पहल के साथ एक विविध, समावेशी और समान कार्यस्थल का निर्माण करना जारी रखे हुए है। विकलांग व्यक्तियों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर, और हर दिन, उनकी कहानियाँ देखने और पढ़ने लायक होती हैं। उनमें से प्रत्येक अपनी कहानियों के हीरो हैं।

मैं बोल या सुन नहीं सकता – शायद इसीलिए दुनिया मुझे नहीं देख सकती। लेकिन जीवन चुनौतियों का सामना करने के बारे में है,” अजय सिंह कहते हैं।

“आज भी विकलांग महिलाओं को हमारे समाज में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। गलत इलाज के कारण मेरे पैर में खराबी आ गई थी। मैं अब भी लंगड़ा कर चलती हूं। आप या तो इसे अपनी नियति के रूप में स्वीकार कर सकते हैं या इससे लड़ना सीख सकते हैं,” संगीता कहती हैं। “मैंने लड़ना चुना।”

“मेरे दोनों हाथों में उंगलियां नहीं हैं। लेकिन मैंने कभी खुद को विकलांग नहीं समझा। मैंने जीने के लिए बहुत कुछ सहा। मैं एक निर्माण स्थल पर पत्थर और ईंटें ले जा रहा था और मेरी दोनों उंगलियां कट गईं,” शेखर कुमार कहते हैं।

वे उन अवसरों की तलाश में थे जो उन्हें वास्तव में अपनी प्रतिभा दिखाने में सक्षम बनाएं, और तीनों को नई दिल्ली में फ्लिपकार्टके विकलांग इकार्टीअन्स (eDAB) डिलीवरी हब मिला।

भविष्य समावेशी और समान है

विकलांग लोगों को कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है जो उन्हें समाज में समान रूप से और पूर्ण रूप से भाग लेने से रोकता है। जबकि कई कार्यक्रम और जागरूकता अभियान इस विभाजन को दूर करने की कोशिश करते हैं, सामाजिक बहिष्कार और कुछ करने में असमर्थता विकलांग लोगों के प्रयासों को जटिल बनाती है। 2011 की जनगणना के अनुसार देश में 2.68 करोड़ विकलांग हैं।

वर्क प्लेस पर समानता और विविधता को अपनी एम्प्लोयी पॉलिसी के केंद्र में रखते हुए, फ्लिपकार्ट ने 2017 में ईडीएबी कार्यक्रम की शुरुआत की ताकि अपनी सप्लाय चैनकी भूमिकाओं में विकलांग लोगों के लिए समान अवसर सुनिश्चित किया जा सके।

2021 में, विकलांग कर्मचारियों द्वारा पूरी तरह से चलाए जा रहे एक हब ने दिल्ली में अपने दरवाजे खोल दिए – विकलांग लोगों द्वारा 100 प्रतिशत चलाने वाला भारत का पहला हब। 50 से अधिक कर्मचारियों के साथ, यह हब न केवल एक दिन में 2,000 डिलीवरी करता है, बल्कि 97% ग्राहक संतुष्टि रेटिंग भी प्राप्त करता है।

टीम लीड्स से लेकर कैशियर, डिलीवरी एक्जीक्यूटिव से लेकर पैकर्स और सॉर्टर्स तक, हब में हर कोई प्रतिभाशाली, सक्षम और कुशल है।

“एक दोस्त ने मुझे फ्लिपकार्ट के बारे में बताया और जल्द ही मैं कंपनी जॉइन कर ली। फ्लिपकार्ट से जुड़ने के बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज मुझे विश्वास है कि मैं अपने चारों बच्चों को एक सुरक्षित भविष्य दे सकता हूं,” शेखर, फ्लिपकार्ट विशमास्टर और चार बच्चों के पिता कहते हैं।

“कई छोटे-मोटे काम करने के बाद मैं फ्लिपकार्ट से जुड़ा। अपनी पहली तनख्वाह अपने माता-पिता के हाथों में देकर और अपने पैरों पर खड़े होकर मुझे जो खुशी हुई है, वह अतुलनीय है।” अजय, जो फ्लिपकार्ट के विशमास्टर भी हैं, अपने सबसे गौरवपूर्ण पलों में से एक को याद करते हुए कहते हैं।

संगीता, जो अब उसी हब में एक टीम लीडर हैं, उसने कई नौकरियों में काम किया है। ”लेकिन फ्लिपकार्ट पर मुझे मेरा परिवार मिल गया है।”उनका कहना है।

सपोर्ट का कल्चर

विविध प्रतिभाओं को सक्रिय रूप से प्रोत्साहित और समर्थन देकर, ईडीएबी पहल में आज 2,100 से अधिक विकलांग लोग हैं जो फ्लिपकार्ट की सप्लाय चैन को मजबूत करते हैं।

ईडीएबी प्रोग्राम के माध्यम से, सांकेतिक भाषा इंटरप्रिटर्स की मदद से स्पेशयल क्लासरूम और ऑन-द-जॉब प्रशिक्षण कार्यक्रमों से कर्मचारीओ के विकास को बढ़ावा मिलता है। यह प्रोग्राम सभी कर्मचारियों के लिए संवेदीकरण सत्र और सहानुभूति प्रशिक्षण के साथ-साथ सप्लाय चैन सुविधाओं को सभी के लिए सुलभ बनाने के लिए संरचनात्मक परिवर्तन भी सुनिश्चित करता है।

विशमास्टर्स के लिए डिज़ाइन किए गए विशेष बैज और फ्लैशकार्ड उन्हें ग्राहकों के साथ आसानी से संवाद करने में सक्षम बनाते हैं।

ईडीएबी हब और पूरे फ्लिपकार्ट में, स्वागत, निरंतर समर्थन और सम्मान का कल्चर संगीता, अजय और शेखर जैसे कई लोगों को वास्तव में चमकने और जुड़े रहने में सक्षम बनाती है। संगीता कहती हैं, “हमारे संघर्ष अलग हो सकते हैं, लेकिन हम सभी अपनी कहानियों में हीरो हैं।”

- विज्ञापन -
Bharat247
Bharat247https://bharat247.com
bharat247 पर ब्रेकिंग न्यूज, जीवन शैली, ज्योतिष, बॉलीवुड, गपशप, राजनीति, आयुर्वेद और धर्म संबंधित लेख पढ़े!
संबंधित लेख
- विज्ञापन -

लोकप्रिय लेख

- विज्ञापन -