Saturday, May 25, 2024
bharat247 विज्ञापन
Homeपूजा पाठतीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा विधि

तीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा विधि

- विज्ञापन -

तीसरा शारदीय नवरात्रि का दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित है। इस दिन मां चंद्रघंटा की पूजा विधि इस प्रकार है:

  • सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • पूजा स्थल को साफ करें और कलश की पूजा करें।
  • मां चंद्रघंटा की प्रतिमा या तस्वीर को स्थापित करें।
  • मां को अक्षत, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य, आदि अर्पित करें।
  • मां चंद्रघंटा के मंत्र का जाप करें।
  • दुर्गा चालीसा और आरती का पाठ करें।
  • प्रसाद वितरित करें।

मां चंद्रघंटा का मंत्र – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

ऊँ श्रीं नमः चंद्रघंटायै

तीसरा शारदीय नवरात्रि के दिन क्या करे – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • इस दिन मां चंद्रघंटा की पूजा करने से बुद्धि, विद्या और विवेक की प्राप्ति होती है।
  • इस दिन मां को सफेद या पीले रंग की वस्तुएं अर्पित करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।
  • इस दिन मिठाई, दूध और फल का भोग लगाना चाहिए।

तीसरा शारदीय नवरात्रि के दिन क्या न करें – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • इस दिन मां चंद्रघंटा की पूजा में किसी भी प्रकार का मांस या मदिरा का भोग नहीं चढ़ाना चाहिए।
  • इस दिन किसी भी प्रकार का क्रोध या विवाद नहीं करना चाहिए।
  • इस दिन झूठ बोलना या किसी का दिल दुखाना चाहिए।

तीसरा शारदीय नवरात्रि के दिन के कुछ उपाय – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • इस दिन सफेद या पीले रंग के वस्त्र पहनें।
  • इस दिन मां चंद्रघंटा के मंत्र का जाप करें।
  • इस दिन मां चंद्रघंटा को सफेद या पीले रंग के फूल और मिठाई का भोग लगाएं।

इन उपायों को करने से मां चंद्रघंटा की कृपा प्राप्त होती है और जीवन में सुख-समृद्धि आती है।

तीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा सामग्री – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • मां चंद्रघंटा की प्रतिमा या तस्वीर
  • अक्षत
  • फूल
  • धूप
  • दीप
  • नैवेद्य
  • प्रसाद
  • कलश
  • माला
  • लाल चंदन
  • कुमकुम
  • इत्र
  • सिंदूर
  • रोली
  • चावल
  • घी
  • दूध
  • दही
  • शहद
  • शक्कर
  • मेवे

तीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा का शुभ मुहूर्त – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • ब्रह्म मुहूर्त (04:13 AM से 05:02 AM)
  • अभिजीत मुहूर्त (11:45 AM से 12:44 PM)
  • विजय मुहूर्त (02:13 PM से 03:02 PM)
  • गोधूलि मुहूर्त (05:49 PM से 06:38 PM)

तीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा का विधि-विधान – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

  • सबसे पहले पूजा स्थल को साफ करके कलश की स्थापना करें।
  • फिर मां चंद्रघंटा की प्रतिमा या तस्वीर को स्थापित करें।
  • अब मां को अक्षत, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य, आदि अर्पित करें।
  • इसके बाद मां चंद्रघंटा के मंत्र का जाप करें।
  • अंत में दुर्गा चालीसा और आरती का पाठ करें।

तीसरा शारदीय नवरात्रि की पूजा का महत्व – शारदीय नवरात्रि 2023 (Shardiya Navratri 2023)

मां चंद्रघंटा को नवरात्रि की तीसरी दुर्गा माना जाता है। मां चंद्रघंटा के मस्तक पर एक अर्धचंद्र है, इसलिए उन्हें चंद्रघंटा कहा जाता है। मां चंद्रघंटा को बुद्धि और विद्या की देवी माना जाता है। मां चंद्रघंटा की पूजा करने से बुद्धि तेज होती है और विद्या में सफलता प्राप्त होती है।

- विज्ञापन -
Bharat247
Bharat247https://bharat247.com
bharat247 पर ब्रेकिंग न्यूज, जीवन शैली, ज्योतिष, बॉलीवुड, गपशप, राजनीति, आयुर्वेद और धर्म संबंधित लेख पढ़े!
संबंधित लेख
- विज्ञापन -

लोकप्रिय लेख

- विज्ञापन -